चार धाम यात्रा को कैसे बनाये पैदल की चढ़ाई करके जीवन का बेहतरीन एडवेंचर?

चार धाम यात्रा को कैसे बनाये पैदल की चढ़ाई करके जीवन का बेहतरीन एडवेंचर?

चार धाम यात्रा को कैसे बनाये पैदल की चढ़ाई करके जीवन का बेहतरीन एडवेंचर?

अगर आप भारत में रहते है तो इस पोस्ट को जरूर पढ़े क्योकि आप श्रद्धावान भी होंगे और घुम्मकड़ भी होंगे जिसके चलते आज हम आपको भारत की चारधाम यात्रा के साथ कुछ और भी यात्रा में एडवेंचर बतायेगे जिनका लुपत आप आसानी से उठा सकते है, जिसमे आप भक्ति भाव और अपनी यात्रा को एन्जॉय कर सकते है| और साथ ही ये भी जानेगे किस स्थान की पैदल की चढ़ाई कितनी है और कितना वह का तापमान रहता है | 

भारत के पैदल यात्रा वाले धाम 

(1) अमरनाथ

(2) गंगोत्री

(3) केदारनाथ

(4) वैष्णवों देवी

(5) यमुनोत्री

 

(1) अमरनाथ धाम 

अमरनाथ धाम की यात्रा पंचतरणी से बाबा अमरनाथ की गुफा के लिए चढ़ाई शुरू होती है। ये दूरी लगभग 6.5 किलोमीटर की है। इस तरह से पहलगाँव से प्रारम्भ होकर बाबा अमरनाथ की गुफा तक की दुरी 51 किलोमीटर की होती है। और भारत की चार धाम यात्रा की सबसे बड़ी यात्रा होती है। अमरनाथ धाम की यात्रा साल में मात्र 46 दिन के लिए होती है जिसके लिए पहले ही रजिस्ट्रेशन करना पड़ता है अमरनाथ धाम का मौसम तापमान 9°- 2° डिग्री के बीच है अभी तक।

 

(2) गंगोत्री धाम 

 

चार धाम यात्रा में गंगोत्री भी है यह मंदिर उत्तराखंड के उत्तरकाशी जिले में स्थित हिंदुओं के प्रसिद्ध धाम है। जो की समुद्र तल से 3,038 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है। गंगोत्री मंदिर से आगे चलने पर गोमुख स्थान है। इस गोमुख से गंगोत्री की दुरी 19 किलोमीटर की है जो कि पैदल का ट्रेक है। गोमुख पवित्र नदी गंगा का उद्गम स्थान है। और यंहा का तापमान 17° से 11° डिग्री है।

 

(3) केदारनाथ धाम 

केदारनाथ धाम भी चार धाम यात्रा में से एक धाम ही है जिसकी पैदल यात्रा महज 21 किलोमीटर की होती है जो सोनप्रयाग से शुरू होकर गौरी कुंड तक 5 किलोमीटर की है और फिर गौरी कुण्ड से केदारनाथ मंदिर तक का सफर 16 किलोमीटर की पैदल यात्रा का  है। और यंहा के तापमान की बात करे तो 13°C° डिग्री है। 

 

(4) वैष्णवों देवी 

वैष्णो देवी एक तीर्थ स्थान है जो कि समुद्र तल से 5 हजार 300 फीट की ऊंचाई पर स्थित है यह तीर्थ स्थल चार धाम यात्रा में नहीं आता है, और यंहा बेस कैंप कटरा से माता का दरबार तक जाना होता है जिसे भवन भी कहते हैं और भवन तक पहुंचने के लिए करीब 12 किलोमीटर की चढ़ाई करनी पड़ती है। यह यात्रा भी चार धाम की यात्रा की तरह ही होती है और यंहा के तापमान की बात करे तो 23°C° डिग्री है। 

 

(5) यमुनोत्री धाम 

यमुनोत्री धाम भी चार धाम यात्रा में से एक है और यंहा तक पहुंचने के लिए खरसाली से पुरे छह किलोमीटर की खड़ी चढ़ाई तय करनी पड़ती है। जिसकी वजह से इसे देखते हुए वर्ष 2008 में यमुनोत्री के लिए रोपवे का खाका खींचा गया। परन्तु जो लोग एडवेंचर के शौकीन है वो लोग पैदल ही इस चढ़ाई को पूरा करते है और सफर का मजा लेते है। इस धाम का तापमान जून के महीने में  19°C से 10 °C के बीच रहता है। 

इसे भी देखे एक बार : इन Hill Station पर रात बिताये वो भी कम खर्च में सरकारी गेस्ट हॉउस में

Leave a Reply

Your email address will not be published.